Monday, June 08, 2009

टोरांटो और यू.के के कवियों/लेखकों के साहित्यिक आदानप्रदान की शाम


(पूरी ख़बर और तस्वीरों के लिये हिन्दी साहित्य सभा टोरांटो के ब्लाग पर जायें)।


टोरांटो के मिसिसागा शहर मॆं यू.के. से पधारे ८ कवि और कवियित्रियों के संग टोरांटो शहर के क्षेत्रीय कवि/कवियित्रियों ने मिल कर भाग लिया एक अंतरराष्ट्रीय मिलन संध्या में जिस दौरान सभी पधारे यू.के. के गीतांजलि बहुभाषीय सांस्कृतिक समुदाय के माननीय गण व टोरांटो के हिन्दी साहित्य सभा के सदस्यों ने न सिर्फ़ अपने कविता पठन से सबको मुग्ध किया बल्कि इस तरह के एक्सचेंज प्रोग्राम की सराहना भी की।

2 comments:

Udan Tashtari said...

एकाएक कओलिफोर्निया जाना पड़ा, न पहुँच पाने का अफसोस है.

गौतम राजरिशी said...

देख आया...
आप खूब जँच रही हि मानोशी कविता पढ़ते हुये अपने भावपूर्ण अंदाज़ में....