Sunday, December 04, 2005

कुछ और तस्वीरें--शीत


बर्फ़ के गुड्डे बनाते बच्चे

हिमपात


बर्फ़ से ढकी सूखी टहनियों का जाल

4 comments:

अनूप शुक्ला said...

वाह-वा। बड़ी खूबसूरत बर्फ है।

Pratik said...

इन खूबसूरत तस्‍वीरों में ये बर्फ्र न जाने क्‍यों उदासी दर्शाती सी लगती है। क्‍या आप लोगों को भी ऐसा ही लगता है?

RCMishra said...

हमारे यहां (इटली) मे तीन हफ्ते पहले साल की पहली बर्फ पडी थी, अभी मैं इंतजार का रहा हू और देखने का, चित्र के लिये धन्यवाद्

महावीर said...

काफी दिनों के बाद तुम्हारा ब्लॉग देखा। यह तो मालूम ही नहीं था कि अच्छी कविताएं लिखने
के अतिरिक्त इतनी अच्छी फ़ोटोग्राफी भी करती हो।
'बर्फ़' और 'आसमान' की सारी ही तस्वीरें बहुत
अच्छी हैं। 'उलझा आसमान' (बर्फ़ से ढकी
सूखी टहनियों का जाल) बहुत ही आकर्षक है। बैकग्राउंड में जो आसमान है,विशेषकर रोशनी का भाग है, वहां नज़र ठहर जाती है।
कविताएं बड़ी रुचि से पढ़ी!
महावीर